{ Page-Title / Story-Title }

News Hindi

सिनेस्तान स्क्रिप्ट कॉन्टेस्ट – जूरी द्वारा अंतिम निर्णय प्रस्तुत, कल होगी विजेताओं की घोषणा


इस कॉन्टेस्ट के दूसरे संस्करण में पूर्व से न्यूझीलैंड और पश्चिम से कनाडा जैसे देशो से लोगों ने हिस्सा लिया।

जूरी के सदस्य राजकुमार हिरानी, अंजुम राजाबलि, आमिर खाँ और जूही चतुर्वेदी

Our Correspondent

देश की सबसे बड़ी स्क्रिप्टरायटिंग प्रतियोगिता, सिनेस्तान इंडियाज़ स्टोरीटेलर्स कॉन्टेस्ट, के दूसरे संस्करण के विजेताओं की घोषणा से अब परदा हटने वाला है। जूरी के सदस्यों ने अपना अंतिम चुनाव कर लिया है। मात्र, पहले संस्करण की तरह विजेताओं की घोषणा और पुरस्कार वितरण के लिए इस बार कोई समारोह आयोजित नहीं किया जाएगा। देशभर में २४ मार्च से कोविड-१९ महामारी से लड़ने के लिए जारी लॉकडाउन की वजह से ये निर्णय लिया गया।

सन्माननीय जूरी में अध्यक्षस्थान अंजुम राजाबलि को दिया गया था और अन्य सदस्यों में अभिनेता-फ़िल्मकार आमिर खाँ, निर्देशक राजकुमार हिरानी और लेखिका जूही चतुर्वेदी शामिल हैं। शुक्रवार ८ मई को ये सभी मिलकर विजेताओं की घोषणा करेंगे। इसके बाद विजेताओं को बैंक ट्रांसफर के ज़रिये पुरस्कार राशि वितरित की जाएगी।

सिनेस्तान इंडियाज़ स्टोरीटेलर्स कॉन्टेस्ट में कुल रु५० लाख की पुरस्कार राशि है। प्रथम स्थान प्राप्त करनेवाले विजेता को रु२५ लाख की पुरस्कार राशि दी जाएगी, वहीं दूसरे स्थान के विजेता को रु१० लाख, तीसरे स्थान पर आनेवाले विजेता को रु७ लाख, चौथे स्थान के विजेता को रु५ लाख तथा पांचवे स्थान के विजेता को रु३ लाख की पुरस्कार राशि प्रदान की जाएगी।

दूसरे संस्करण में पूर्व देशों में न्यूझीलैंड से तथा पश्चिमी देशों में कनाडा जैसे देश से लोगों ने हिस्सा लिया। कई यूरोपियन देश जैसे के जर्मनी, स्वीडन और अफ्रीकन देशों में इथोपिया से भी प्रवेशिकाएं आयी। पर्शियन गल्फ के देशों से भी कुछ प्रवेशिकाएं थी, जहाँ कई सारे प्रवासी भारतीय रहते हैं।

पर ३००० के करीब प्रवेशिकाओं में ९०% से भी ज़्यादा हमारे देश से ही आए। दूसरे संस्करण में देवनागरी में लिखी हुई स्क्रिप्ट भी स्वीकृत की गयी थी। इस वजह से पंजाब के अबोहर, पश्चिम बंगाल के बलूरघाट, ओड़िशा के चंदापुर, झारखंड के धनबाद, उत्तर प्रदेश के इटवाह, हरियाणा के फतेहाबाद, बिहार के गोपालगंज, उत्तराखंड के हरिद्वार, केरला के इरिंजालाकुडा, आसाम के जगिरोड, गुजरात के कलोल, गोवा के मडगांव, राजस्थान के नागौर, आंध्र प्रदेश के ओंगोल, पॉन्डिचेरी, मध्यप्रदेश के रैसेन, मेघालय के शिलॉन्ग, तमिलनाडु के तिरुपुर, हिमाचल प्रदेश के ऊना, कर्णाटक के विजयपुरा और महाराष्ट्र के वणी जैसे छोटे शहरों से भी लोगों ने इस प्रतियोगिता में हिस्सा लिया।

Related topics