{ Page-Title / Story-Title }

News Hindi

सिनेस्तान स्क्रिप्ट कॉन्टेस्ट – त्रि-स्तरीय प्रक्रिया से विजेताओं का चुनाव


निष्पक्ष चुनाव के लिए कई अंगों पर चर्चाएँ कर एक विस्तृत प्रक्रिया द्वारा शीर्ष ५ विजेताओं को चुना गया है।

Our Correspondent

सिनेस्तान इंडियाज़ स्टोरीटेलर्स कॉन्टेस्ट के दूसरे संस्करण की रु५० लाख की कुल पुरस्कार राशि ही इसकी एकमात्र विशेषता नहीं है। ८ मई को इस सत्र के विजेताओं की घोषणा टेलीविजन और सिनेस्तान डॉट कॉम पर की जा रही है।

भारत की इस सबसे बड़ी स्क्रिप्ट रायटिंग कॉन्टेस्ट को स्क्रीन रायटिंग असोसिएशन (एस डब्ल्यू ए) ने भी अपना सहयोग दिया है। इस प्रतियोगिता में प्रवेशिकाओं को चुनने की त्रि-स्तरीय प्रक्रिया थी। प्रतियोगिता के अंत में विजेताओं से लेकर सभी सहभागियों के स्क्रिप्ट्स के सारे हक़ उन्ही के पास सुरक्षित रहेंगे।

अपनी कहानी बताने की इच्छा रखनेवाले तथा अपने कौशल्य को और बेहतर करने की मंशा रखनेवाले उन सभी नए और उभरते लेखकों को प्रोत्साहित करने के उद्द्येश्य से २०१७ में इस प्रतियोगिता को शुरू किया गया। एक उद्द्येश्य यह भी था के इस माध्यम से फ़िल्मों की अच्छी स्क्रिप्ट्स तैयार होने में मदद मिलेगी।

फोटो – शटरबग्ज़ इमेजेस 

वरिष्ठ स्क्रीन रायटर तथा शिक्षक अंजुम राजाबलि इस प्रतियोगिता के जूरी के अध्यक्ष स्थान पर हैं। वे ये कहते कभी नहीं थकते, "जब तक हमारी स्क्रिप्ट्स बेहतर नहीं होंगी, हमारा सिनेमा भी बेहतर नहीं होगा।" राजाबलि, भारतीय फ़िल्मों के एक महत्वपूर्ण स्क्रिप्ट कंसल्टेंट हैं और द्रोहकाल (१९९४), गुलाम (१९९८), द लीजैंड ऑफ़ भगत सिंह (२००२) और राजनीती (२०१०) जैसी फ़िल्मों के लेखक रह चुके हैं।

यह कॉन्टेस्ट दुनिया के किसी भी कोने में रहनेवाले भारतीय के लिए खुला होता है और इस प्रतियोगिता के दूसरे संस्करण में देवनागरी में भी प्रवेशिकायें स्वीकृत की गयी। सभी प्रतियोगियों को उनकी कहानी का एक सारांश अधिकतम २,५०० शब्दों में लिख कर भेजना होता है। पर यह सारांश एसडब्ल्यूए या कॉपीराइट की सुरक्षा करनेवाली इस जैसी संस्था के पास पंजीकृत करने के बाद ही भेजनी अनिवार्य है।

करीबन ३००० के आस पास आये इन सभी सारांश की अनुभवी वाचकों की टीम द्वारा चिकित्सा की गयी। राजाबलि और मेंटॉर्स के ग्रुप ने उनका मार्गदर्शन किया। इन सारांश से लेखकों के नाम की पहचान हटाने के बाद ही यह सारांश वाचकों को सौंपे गए।

इस टीम ने अगले राउंड के लिए १२५ से अधिक प्रवेशिकायें चुनी। जिन लोगों को शॉर्ट लिस्ट किया गया उन्हें अधिकतम १२० टाइप किये हुए पन्नो में अपने पंजीकृत स्क्रीनप्ले भेजने के लिए कहा गया।

राजाबलि द्वारा जारी किये गए मार्गदर्शक तत्वों के आधार पर वरिष्ठ वाचकों की टीम ने इन स्क्रीनप्लेज़ को परखा। काफ़ी चर्चा और संवाद के बाद अंतिम शॉर्टलिस्ट स्क्रीनप्लेज़ का चुनाव हुआ।

इन शॉर्टलिस्ट स्क्रिप्ट्स को राजाबलि की अध्यक्षता में अभिनेता-फ़िल्मकार आमिर खाँ, लेखक-निर्देशक-एडिटर राजकुमार हिरानी और स्क्रिप्ट रायटर जूही चतुर्वेदी इन जूरी सदस्यों को भेजा गया। जूरी के सदस्यों ने हरेक स्क्रीनप्ले को पढ़ा, अपने नोट्स बनाये और राजाबलि की अध्यक्षता में इन पर चर्चा विमर्श कर अंतिम निर्णय लिया।

जूरी के सदस्यों के अनुभव, उनके ज्ञान और किसी विषय पर किये लेखन का परिक्षण करने में उनकी खुद की अपनी सोच, इन सभी मुद्दों के चलते उनकी चर्चा काफ़ी गंभीर स्वरुप की रही। पर अंत में पाँच विजेता स्क्रिप्ट्स पर उनका एकमत हुआ।

इन पाच विजेताओं के नाम शुक्रवार को टेलीविजन, सिनेस्तान डॉट कॉम और सोशल मिडिया पर जारी किये जा रहें हैं। इन सभी विजेताओं तथा अन्य प्रतियोगियों का उनके स्क्रिप्ट्स पर उनका पूरा हक़ सुरक्षित रहेगा। विजेताओं को प्रॉडक्शन हाउस को अपनी स्क्रिप्ट्स सुनाने में सिनेस्तान की ओर से पूरा सहयोग दिया जाएगा।

Related topics