{ Page-Title / Story-Title }

News Hindi

सर्वाधिक आय वाले १०० सेलिब्रिटी की फ़ोर्ब्ज़ सूचि में अक्षय कुमार एक मात्र भारतीय


अभिनेता को इस सूचि में ५२वा स्थान प्राप्त हुआ है। एमएमए स्टार कोनोर मैकग्रेगर और एनबीए के सबसे कीमती खिलाडी जेम्स हार्डन से भी ऊपर की पायदान पर अक्षय कुमार को स्थान मिला है।

Our Correspondent

कोविड-१९ महामारी की वजह से विश्व की आर्थिक स्थिति भले ही ढलान पर है, पर अब भी ऐसे कई सेलिब्रिटी हैं जिन्होंने फ़ोर्ब्ज़ के १०० अमीर सेलिब्रिटी में अपना स्थान बनाया है।

हिंदी फ़िल्म स्टार अक्षय कुमार इस सूचि में एक मात्र भारतीय हैं। उन्हें ५२वा स्थान प्राप्त हुआ है। उन्होंने यूएफसी चैम्पियन कोनोर मैकग्रेगर, बास्केटबॉल स्टार जेम्स हार्डन और हॉलीवुड स्टार विल स्मिथ को भी पीछे छोड़ दिया है।

जून २०१९ से मई २०२० तक किये गए इस सर्वेक्षण में फ़ोर्ब्ज़ ने १०० अमीर सेलिब्रिटी की एक सूचि ज़ाहिर की है। इसमें पहले स्थान पर रियलिटी शो स्टार और कॉस्मेटिक उत्पादक कैली जेनर (५९० मिलियन डॉलर) हैं, उसके बाद रैपर और संगीतकार केनी वेस्ट (१७० मिलियन डॉलर) और टेनिस स्टार रॉजर फेडरर (१०६.५ मिलियन डॉलर) का नाम शामिल है।

मशहूर फुटबॉल खिलाडी ख्रिस्तियानो रोनाल्डो (१०५ मिलियन डॉलर) और लिओनेल मेसी (१०४ मिलियन डॉलर) क्रमशः चौथे और पाँचवे स्थान पर हैं।

इस सूचि में भारत के एक मात्र सेलिब्रिटी अक्षय कुमार ने जगह पायी है, जिन्होंने फ़ोर्ब्ज़ के अनुसार इस वर्ष ४८.५ मिलियन डॉलर, याने के करीब रु३६६ करोड़, की कमाई की है। इस सूचि में कुमार को लगातार तीसरे वर्ष चुना गया है। वर्ष २०१९ में उनकी कमाई ६५ मिलियन डॉलर (तक़रीबन रु४६६ करोड़) बताई गयी थी। गौर करें के इस सूचि में शाहरुख़ खाँ, सलमान खाँ या दीपिका पादुकोण का नाम पहले शामिल हो चुके हैं, पर इस बार दूर दूर तक उनका कोई नाम नहीं है।

अक्षय कुमार की इस वर्ष की रोहित शेट्टी निर्देशित बड़ी फ़िल्म सूर्यवंशी (२०२०) कोविड-१९ की महामारी की वजह से देश भर में लागू किये गए दो महीने के लॉकडाउन से रुकी है। उनकी आगामी फ़िल्मों में लक्ष्मी बॉम (२०२०) डिजिटली प्रदर्शित होगी ऐसी चर्चा है। इस फ़िल्म के साथ बच्चन पांडे और बेल बॉटम ये दो फ़िल्में भी अगले वर्ष प्रदर्शन के लिए तैयार हैं।

आजकल अक्षय कुमार सोशल मिडिया पर सार्स-कोवि-२ वायरस से बचने के लिए सुरक्षित शारीरिक अंतर बनाये रखने के लिए लोगों को जागृत कर रहे हैं। फ़िल्म इंडस्ट्री के डेली मजदूरों को मदद दिए जाने में उनके सहभाग और पीएम केयर्स फंड में योगदान के अलावा उन्होंने लोकसेवा विज्ञापन में भी हिस्सा लिया है। यह विज्ञापन लॉकडाउन के बाद आर्थिक स्थिति के सुधार के लिए लोगों में जागृति लाने के इरादे से बनाया गया है। इसे मई के आखरी सप्ताह में शूट किया गया था।

Related topics