{ Page-Title / Story-Title }

News Hindi

यूपी पुलिस ने कनिका कपूर को अपना स्टेटमेंट देने के लिए भेजी नोटिस


गायिका पर लापरवाही के कारण कोरोना वायरस के संसर्ग को फ़ैलाने का आरोप है।

फाइल फोटो – शटरबग्ज़ इमेजेस

Our Correspondent

पिछले महीने गायिका कनिका कपूर पर प्राथमिक सूचना रिपोर्ट (एफ आई आर) दर्ज की गयी थी। उनके इंग्लैंड से वापस आने के बाद उनकी लापरवाही की वजह से कोविड-१९ महामारी के संसर्ग का खतरा फ़ैलाने का आरोप उन पर किया गया था। इसी सिलसिले में यूपी पुलिस द्वारा उन्हें नोटिस भेजा गया है।

इस नोटिस में कपूर को लखनऊ के सरोजिनी नगर पुलिस थाने में ३० अप्रैल को आकर अपना स्टेटमेंट रिकॉर्ड करने को कहा गया है। अगर वे ऐसा नहीं करतीं तो उन्हें हिरासत में लेकर कोर्ट में पेश किया जायेगा।

"कपूर को नोटिस भेजा गया है और उन्हें सरोजिनी नगर पुलिस स्टेशन में आने को कहा गया है जहाँ पर भारतीय दफा २६९ (ज़िंदगी को घातक बीमारी के संसर्ग के प्रति लापरवाही बरतना), २७० (जीवन के लिए घातक बीमारी के संसर्ग को फ़ैलाने में सहायक हो ऐसा घातक बर्ताव करना) और १८८ (सार्वजनिक अधिकारियों द्वारा जारी किये गए सूचनाओं का पालन न करना) के तहत उनके खिलाफ २० मार्च को एफ आई आर दर्ज कराया गया है," एक पुलिस अफसर ने प्रेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया (पीटीआई) न्यूज एजेंसी को बताया।

ये एफ आई आर लखनऊ के मुख्य स्वास्थ अधिकारी ने पिछले महीने दर्ज कराई थी। कपूर पर आरोप है के उन्होंने इंग्लैंड से लौटने पर अपने आप को टेस्ट नहीं करवाया, जब की पूरे विश्व में कोविड-१९ महामारी का खतरा मंडरा रहा था। गायिका २० मार्च को टेस्ट में पॉज़िटिव पायी गयी। इस महीने इस वायरस से पूरी तरह बाहर निकलने पर उन्हें अस्पताल से छोड़ दिया गया।

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Stay Home Stay Safe 🙏🏼

A post shared by Kanika Kapoor (@kanik4kapoor) on

कपूर ने इन आरोपों को पहले ही बेबुनियाद बताया है। "उस दिन कोई भी एडवाइज़री जारी नहीं हुई थी (इंग्लैंड ट्रैवल एडवाइज़री १८ मार्च को जारी हुई थी) जिसमे लिखा हो के मुझे क़्वारन्टाइन में रहना होगा। मुझमे कोई लक्षण नहीं थे और इसीलिए मैंने अपने आप को क़्वारन्टाइन नहीं किया," उनके स्टेटमेंट के एक हिस्से में कहा गया।

Related topics

Coronavirus