News Hindi

वन डे ट्रेलर – ईशा गुप्ता बनी कठोर पुलिस अफसर, सुलझाएंगी अनुपम खेर के आतंकी योजना की गुत्थी


अशोक नंदा द्वारा निर्देशित यह फ़िल्म १४ जून को प्रदर्शित होगी।

Shriram Iyengar

ये समय शायद आतंकवाद पर बन रही थ्रिलर फ़िल्मों का है। अशोक नंदा की वन डे भी आतंकी योजना की एक कहानी है, जहाँ तीन लोग लापता हैं। कुमुद मिश्र और अनुपम खेर इस कहानी के मुख्य पात्र हैं, साथ ही ईशा गुप्ता कर्तव्य कठोर और सीधे बात करनेवाली पुलिस अफसर बनी हैं जो इस केस की इंचार्ज भी है। फ़िल्म १४ जून को प्रदर्शित हो रही है।

ट्रेलर के शुरुवात में रिटायर्ड जज के किरदार में अनुपम खेर किसी से बम ब्लास्ट के बारे में पूछ रहे हैं। इसके कुछ दृश्यों बाद वे कुछ आरोपियों को गवाहों के बयान के आधार पर बाइज्जत बरी करते दिखते हैं।

इन दृश्यों के आधार पर ये तर्क लगाया जा सकता है के शायद वे खुद इस योजना का हिस्सा हैं जिसमे तीन लोग लापता हैं, पर ये योजना क्या है इस बारे में कोई स्पष्टता नहीं मिलती। कुमुद मिश्र और ईशा गुप्ता के किरदार इस केस की छानबीन में लगे हैं।

ट्रेलर कुछ अटपटा सा भी लगता है, क्योंकि उषा उत्थुप द्वारा गाया गया शीर्षक गीत 'वन डे' अचानक बीच में ही आ जाता है। हालांकि ट्रेलर द्वारा कुछ अधिक बाते खोली नहीं गई हैं, पर अनुपम खेर के किरदार के ग्रे शेड्स की तरफ ये ज़रूर निर्देश कर रहा है।

कुमुद मिश्र ईमानदार पुलिस अफसर की भूमिका में नज़र आ रहे हैं, वहीं ईशा गुप्ता कठोर हरयाणवी पुलिस अफसर की भूमिका में काफ़ी अड़खड़ाती दिखती हैं। इस भूमिका को उन्होंने कैसे निभाया है ये अब फ़िल्म में ही देखना होगा।

फ़िल्म का निर्देशन अशोक नंदा ने किया है और १४ जून को यह फ़िल्म प्रदर्शित हो रही है। ट्रेलर यहाँ देखें।

Related topics