{ Page-Title / Story-Title }

News Hindi

जंग आतंक के खिलाफ है, किसी देश या धर्म के खिलाफ नहीं – आर ए डब्ल्यू के ट्रेलर लॉंच पर जॉन एब्रहमने कहा


जॉन ने जनता से आवाहन किया के कोई भी राजनीतिक टिप्पणी तभी करें जब आपके पास उसका पर्याप्त ज्ञान हो।

Mayur Lookhar

अभिनेता जॉन एब्रहम ने कहा के देशवासी कोई भी भूमिका तभी लें जब उनके पास उस विषय की उचित राजनीतिक जानकारी हो। सोमवार को हुये रोमिओ अकबर वॉल्टर (आर ए डब्ल्यू) के ट्रेलर लॉंच के दौरान वे बोल रहे थे।

अभिनेत्री कंगना रनौत ने हाल ही में पुलवामा आतंकी हमले के पश्चात पाकिस्तान की निंदा करते हुये अपनी भूमिका स्पष्ट की थी। पुलवामा हमले की ज़िम्मेदारी पाकिस्तान स्थित आतंकी संघटन जैश-ए-मोहम्मद ने स्वीकारी थी। कंगनाने पाकिस्तान को उध्वस्त करने की बात कही थी।

"मुझे लगता है के कंगना राजनीतिक स्थिति से अवगत हैं," जॉन ने ट्रेलर लॉंच के दौरान कहा। जॉन ने रनौत के मतों पर कुछ जवाब नहीं दिया पर उन्होंने सबसे ये आवाहन किया के कोई भी राजनीतिक टिप्पणी तभी करें जब आपके पास उसका पर्याप्त ज्ञान हो।

"मुझे लगता है के अगर आप राजनीतिक स्थिति से अवगत हैं तो आपको अवश्य एक भूमिका लेनी चाहिए। आप ऐसे मूर्ख नहीं हो सकते जिन्हें ये भी ना पता हो के कौनसा देश कहाॅं है और बिहार या सीरिया में क्या चल रहा है। अगर आपको पता है के कहाॅं क्या हो रहा है, तभी आप कोई टिपण्णी करें," जॉन ने कहा।

जॉन ने ये भी बताया के रोमिओ अकबर वॉल्टर की क्रिएटिव टीम और सभी कलाकार राजनीतिक स्थिति से परिचित थे।

"हम ने कश्मीर में कुछ शूट किया है। हमें वहाँ की ज़मीनी समस्याओं के बारे में जानकारी है। हम समझ सकते हैं के वहाँ क्या चल रहा है। पर कोई भी टिप्पणी उचित समय पर करना आवश्यक है। और साथ ही सिर्फ़ ट्रेंड होने के लिए टिप्पणी ना करें। मैं सोशल मिडिया के ट्रेंडिंग के बिज़नेस में नहीं हूँ," उन्होंने कहा।

पुलवामा आतंकी हमले के बाद न्यूक्लियर शस्त्रों से सज्ज भारत और पाकिस्तान जैसे पडोसी देशों में तनाव काफ़ी बढ़ गया है।

जॉन ने इस बात पर ज़ोर दिया के जंग आतंक के खिलाफ है, किसी देश के खिलाफ नहीं। "मुझे लगता है के जंग आतंक के खिलाफ होनी चाहिए, ना की किसी देश या धर्म के खिलाफ और ना ही दो धर्मो के बीच। मेरे विचार में स्पष्टता है। मैं उन अभिनेताओं में से नहीं हूँ जो कहीं बैठ कर दर्शक जैसा सोचें वैसे बोलते हों। इसलिए आतंक के खिलाफ जंग होनी ही चाहिए। उसको उमलने से पहले ही तोडना चाहिए। पर इसका ये मतलब नहीं के आपको किसी दूसरे देश से लड़ना है और दूसरे लोगों को स्टीरिओटाइप कर देना है," जॉन ने कहा।

रोमिओ अकबर वॉल्टर ५ अप्रैल को प्रदर्शित हो रही है।

Related topics