{ Page-Title / Story-Title }

News Hindi

विकी कौशल और शूजित सरकार उधम सिंह बायोपिक के लिए एक साथ


विकी कौशल को इरफ़ान ख़ाँ की जगह पर लिया गया है। इरफ़ान इस प्रोजेक्ट से लंबे समय से जुड़े थे।

Our Correspondent

उरी – द सर्जिकल स्ट्राइक (2019) की सफलता के बाद यूँ लगता है के अभिनेता विकी कौशल को अपनी स्क्रिप्ट चुनने की अब अधिक आज़ादी मिली है और उन्होंने फ़िल्मकार शूजित सरकार की कहानी को चुना है। ये फ़िल्म भारतीय स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ी उधम सिंह की कहानी है।

१९१९ में अमृतसर में हुये जलियांवाला बाग हत्याकांड के बदले स्वरुप उधम सिंह ने पंजाब के लिटीनैंट गवर्नर मायकल ओ'ड्वायर को १९४० में मार गिराया था। बाद में वे पकडे गए तथा दोषी पाए गए और अप्रैल १९४० में उन्हें फांसी दी गयी थी।

अपनी आगामी फ़िल्म के प्रेस रिलीज़ में निर्देशकने अपने मुख्य अभिनेता के बारे में कहा, "मैं शहीद उधम सिंह की कहानी दर्शाने की काफ़ी वर्षों से प्रतीक्षा कर रहा हूँ। ये कहानी मेरे दिल के बहुत करीब है। इस कहानी के लिए मुझे ऐसे कलाकार की आवशयकता थी जो मेरे साथ अपना तन मन लगाकर इस फ़िल्म में काम करे और ये कहानी मेरे साथ बताये। विकी इस भूमिका के लिए बिलकुल योग्य हैं। मैंने उनका काम और उसके प्रति उनकी निष्ठा देखि है।"

मसान (२०१५) फ़िल्म के इस कलाकारने कहा के शूजित सरकार के साथ काम करना उनके विश लिस्ट में था। इस बायोपिक के अलावा वे करण जोहर की फ़िल्म तख़्त (२०२०) का हिस्सा हैं और भूमि पेडनेकर के साथ एक हॉरर कॉमेडी फ़िल्म में भी काम कर रहे हैं।

"वे मुझे निर्देशित कर रहे हैं ये मेरे लिए मेरे सपने के साकार होने जैसा है। हमारे साथ आने के लिए उधम सिंहसे बेहतर कहानी और क्या हो सकती है? एक पंजाबी होने के नाते मैंने हमेशा उधम सिंह की कहानिया सुनी है और मुझे वे हमेशा किसी गूढ़ किरदार की तरह लगते थे। किरदार जितना गूढ़ हो, अभिनेता और निर्देशक के लिए वो उतना ही रोमांचकारी बनता जाता है। उधम सिंह के किरदार को शूजित सर की दृष्टीसे निभाने के लिए मैं बहुत उत्सुक हूँ। मुझे लगता है के उधम सिंह की कहानी हर भारतीय को पता चलनी चाहिए और मैं इस सफर का हिस्सा बनने के लिए काफ़ी उत्सुक हूँ," विकी कौशलने कहा।

विकी कौशल के पूर्व इस प्रोजेक्ट से इरफ़ान ख़ाँ जुड़े थे। इरफ़ान इस महीने लन्दनसे लौटे हैं जहाँ वे अपने न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर के इलाज के लिए पिछले एक वर्षसे थे। सरकारने कहा के उन्होंने इरफ़ान के साथ इस विषय पर बात की है।

"उनमें अब अच्छा सुधार है और वे अब बेहतर महसूस कर रहे हैं," सरकार ने कहा। "वे फ़िल्मों में काम करना चाहते हैं पर वे अब ऐसे ही फ़िल्में चुनेंगे जहाँ उन्हें शारीरिक रूप से अधिक श्रम ना करना पड़े जैसे के इस फ़िल्म में है। उन्होंने मुझे आगे बढ़ने के लिए कहा क्योंकि हम पहले ही इस फ़िल्म के लिए काफ़ी राह देख चुके थे। वे और मैं संपर्क में हैं और किसी और फ़िल्म के साथ फिर एक बार वापस आएंगे।"

इस फ़िल्म का अभी तक कोई नाम तय नहीं हुआ है। फ़िल्म का निर्माण रॉनी लाहिरी के राइज़िंग सन फ़िल्म्स कर रहे हैं।

Related topics