News Hindi

फ़िल्मफ़ेअर अवार्ड्स – आलिया भट्ट, रणबीर कपूर, रणवीर सिंह को मिले मुख्य अवार्ड्स


आलिया भट्ट और रणबीर कपूर को जहाँ क्रमशः सर्वोत्तम अभिनेत्री और अभिनेता के अवार्ड से नवाज़ा गया, वहीं रणवीर सिंह को आयुष्यमान खुराना के साथ संयुक्त रूप से सर्वोत्तम अभिनेता क्रिटिक्स अवार्ड से सम्मानित किया गया।

Shriram Iyengar

६४वे फ़िल्मफ़ेअर अवार्ड्स में आलिया भट्ट और रणबीर कपूर ने क्रमशः सर्वोत्तम अभिनेत्री तथा अभिनेता के रूप में मोहर लगाकर अपने पॉवर कपल होने को सिद्ध किया। शनिवार २३ मार्च को ये समारोह मुंबई में संपन्न हुआ।

राजकुमार हिरानी की फ़िल्म संजू (२०१८) में बेहतरीन अभिनय के कारण रणबीर कपूर को ये सम्मान हासिल हुआ, वहीं आलिया भट्ट को मेघना गुलज़ार की राज़ी (२०१८) फ़िल्म में ज़बरदस्त प्रदर्शन के लिए ये सम्मान दिया गया।

रणवीर सिंह और आयुष्यमान खुराना को क्रमशः पद्मावत (२०१८) तथा अंधाधुन (२०१८) में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए सर्वोत्तम अभिनेता का क्रिटिक्स अवार्ड दिया गया। इसी कड़ी में सर्वोत्तम अभिनेत्री का क्रिटिक्स अवार्ड नीना गुप्ता को अमित रविंद्रनाथ शर्मा की फ़िल्म बधाई हो (२०१८) के लिए दिया गया। नीना गुप्ता का यह पहला फ़िल्मफ़ेअर अवार्ड हैं।

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Mera pehla @filmfare award for #BadhaaiHo #filmfareawards

A post shared by Neena Gupta (@neena_gupta) on

 

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Best actor in a leading role (critics) for #Andhadhun Thank you @filmfare

A post shared by Ayushmann Khurrana (@ayushmannk) on

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A big feeling I have been feeling off late is gratitude.. Meghna Gulzar - to me first - raazi and everything about raazi is you - your effort, your tears, your love, your care it's you you you and just you.. I love you main chick🌟🌟🌟 The entire crew, all actors including my beautiful mother, jaideep and and vicky my iqbal without whom this world wouldn't have come alive.. This is your win too so thank you...I have soo much to be thankful for.. My mom & Dad who have always let me breathe & been my friends first My friends Ayan, Abhi, Kanch - my pillars - who are like my bothers and Sisters My sister - for just being my sister My team - My tribe - Grish, Punnu, Boru , Sanju, Ami, Amol, Sunil.. everything I achieve is yours first then mine Filmfare - thank you for my award and for once again making me want to dream & scream.. The audience the people that are the reason I or any of us are here.. I promise to always work as hard as I can to try and always entertain My mentor, my guardian angel and my fashion police.. who tells me how proud he is but also how I need to stay simple.. Thank you karan for making my life so so so special.. 🌞🌞🌞 And last but not the least MY special one - the one that makes my heart smile and eyes shine ❤️ And shine I will.. Because there's soo much to do in life.. And this is just the beginning.

A post shared by Alia 🌸 (@aliaabhatt) on

राज़ी फ़िल्म के लिए भी यह बड़ा क्षण था। निर्देशिका मेघना गुलज़ार को सर्वोत्तम निर्देशक के रूप में चुना गया और वर्ष की सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म का पुरस्कार भी राज़ी फ़िल्म को ही मिला।

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

BEST. #raazi Thank you #filmfareawards

A post shared by Meghna Gulzar (@meghnagulzar) on

श्रीराम राघवन की फ़िल्म अंधाधुन को क्रिटिक्स अवार्ड द्वारा सर्वोत्तम फ़िल्म के लिए चुना गया। पूजा लढा सुरति को अंधाधुन फ़िल्म के लिए सर्वोत्तम एडिटर अवार्ड तथा श्रीराम राघवन, अरिजीत बिस्वास, पूजा लढा सुरति, योगेश चांदेकर और हेमंत राव को अंधाधुन के लिए सर्वोत्तम स्क्रीनप्ले का अवार्ड मिला।

सारा अली ख़ाँ का फ़िल्म इंडस्ट्री में पहला वर्ष बेहतरीन रहा और केदारनाथ (२०१८) फ़िल्म के लिए मिले सर्वोत्तम पदार्पण अवार्ड ने उस पर चार चाँद लगाए। पुरुषों में यह अवार्ड ईशान खट्टर को माजिद मजीदी की फ़िल्म बियॉन्ड द क्लाउड्स (२०१८) के लिए मिला।

अमित रविंद्रनाथ शर्मा की फ़िल्म बधाई हो को मुख्य अवार्ड भले ही न मिले हों, पर सहायक भूमिकाओं के लिए इस फ़िल्म की कास्ट को चुना गया है। गजराज राव को सर्वोत्तम सहायक अभिनेता का अवार्ड मिला, जो उन्हें विकी कौशल के साथ संयुक्त रूप से मिला। संजू (२०१८) फ़िल्म में विकी कौशल के दमदार अभिनय ने उन्हें यह अवार्ड दिलाया।

बधाई हो की ज्येष्ठ अभिनेत्री सुरेखा सिक्री को उनके ज़बरदस्त अभिनय के लिए सर्वोत्तम सहायक अभिनेत्री का अवार्ड दिया गया।

अक्षत घिल्डियाल को मिले सर्वोत्तम संवाद के अवार्ड से बधाई हो के खाते में एक और अवार्ड का इज़ाफ़ा हुआ।

सर्वोत्तम पहले निर्देशन के अवार्ड के रूप में अमर कौशिक को हॉरर कॉमेडी फ़िल्म स्त्री (२०१८) के लिए चुना गया।

संगीत के अवार्ड्स में भी लोकप्रिय फ़िल्मों ने बाज़ी जीती। राज़ी के 'ऐ वतन' गाने के लिए सर्वोत्तम गीतकार का अवार्ड गुलज़ार को दिया गया तथा अरिजीत सिंह को इसी गाने के लिए सर्वोत्तम पार्श्वगायक के अवार्ड से सम्मानित किया गया।

श्रेया घोषाल को पद्मावत के घूमर गाने के लिए सर्वोत्तम पार्श्वगायिका के रूप में चुना गया। इसी फ़िल्म को सर्वोत्तम म्युज़िक अल्बम की ट्रॉफी से नवाज़ा गया। फ़िल्म के संगीतकार संजय लीला भंसाली ने यह पुरस्कार स्वीकारा।

पिछले वर्ष की अनपेक्षित सफल फ़िल्म तुम्बाड वैसे तो मुख्य पुरस्कारों से दूर रही, पर सर्वोत्तम साउंड डिज़ाइन (कुणाल शर्मा), सर्वोत्तम प्रॉडक्शन डिज़ाइन (नितिन ज़िहानी चौधरी, राजेश यादव) और सर्वोत्तम सिनेमैटोग्राफी (पंकज कुमार) के अवार्ड्स पर फ़िल्म ने अपनी मोहर लगाई।

इस समारोह में दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया।

Related topics