News Hindi

रोमिओ अकबर वॉल्टर गाना – 'बुलेया' के साथ गायक रब्बी शेरगिल की वापसी

Read in: English


सोहेल सेन द्वारा संगीतबद्ध इस गाने में जॉन एब्रहम के किरदार रेहमतुल्ला अली के जासूस बनने के पहले की कुछ झलकियां देखने को मिलती हैं।

Sonal Pandya

जॉन एब्रहम की अगली फ़िल्म रोमिओ अकबर वॉल्टर (२०१९) १९७० के दशक की कहानी है, जब भारत और पाकिस्तान युद्ध के कगार पर थे। उनका किरदार रेहमतुल्ला अली एक साधारण बैंकर और थिएटर आर्टिस्ट है जिसे देश के लिए जासूस बनने को कहा जाता है।

फ़िल्म के पहले गाने 'बुलेया' के ज़रिये हम रोमिओ उर्फ़ रेहमतुल्ला अली को एक पार्टी में देखते हैं जो इंडियन नैशनल बैंक फॉउंडर्स दिवस के उपलक्ष में रखी गयी है। रेहमतुल्ला अपनी प्रेमिका के साथ आता है जो शायद उसकी सहकारी भी है। प्रेमिका का किरदार मौनी रॉय अदा कर रही हैं। जॉन का किरदार अपने प्रेमिका के प्रति प्यार जताने से भी शरमाता नहीं।

गायक रब्बी शेरगिल ने शाहिद मल्या के साथ इस गाने को गाया है और वे इस गाने में नज़र भी आते हैं। इस गाने के बोल अशोक पंजाबी ने लिखे हैं।इस तरह का सूफी प्रेरित गाना शेरगिल की खासियत है। सेन के संगीत में भारतीय और पाश्चिमात्य वाद्यों का उचित संगम है, जो फ़िल्म के समय को प्रत्याशित करता है।

शेरगिल इससे पूर्व संगीतकार ए आर रेहमान के संगीत में रांझना (२०१३) फ़िल्म में गा चुके हैं। उनकी अलग आवाज़ को फिर एक बार फ़िल्मी गाने में सुनकर अच्छा लगता है। शाहिद मल्या ने जॉन एब्रहम को ख़ूबी से आवाज़ दी है। सोहेल सेन और अशोक पंजाबी ने इस पंजाबी गाने के अंदाज़ को बखूबी पकड़ा है और इसका हुक भी बहुत अच्छा है।

इस गाने में हम रेहमतुल्ला के जासूस बनने से पूर्व की ज़िंदगी के कुछ क्षण देखते हैं के कैसे वो अपने जीवन में पार्टी के छोटे छोटे पलों में भी खुश है।

रॉबी ग्रेवाल द्वारा निर्देशित रोमिओ अकबर वॉल्टर ५ अप्रैल को प्रदर्शित हो रही है। गाना यहाँ देखें।

Related topics

Song review