{ Page-Title / Story-Title }

News Hindi

भारत फ़िल्म के शीर्षक पर पीआईएल दाखिल


सामाजिक कार्यकर्ता विपिन त्यागी ने ३० मई को भारत फ़िल्म के शीर्षक के विरोध में पीआईएल दाखिल की है, जिसमे उनका कहना है के भारत नाम को व्यावसायिक हेतु से इस्तेमाल नहीं कर सकते।

IANS

दिल्ली उच्च न्यायालय में एक पब्लिक इंटरेस्ट लिटिगेशन (पीआईएल) दाखिल की गई है, जिसमें ये मांग की गई है के सलमान ख़ाँ की आगामी फ़िल्म भारत (२०१९) के शीर्षक को बदला जाए।

सामाजिक कार्यकर्ता विपिन त्यागी ने ३० मई को भारत फ़िल्म के शीर्षक के विरोध में पीआईएल दाखिल की है, जिसमे उनका कहना है के भारत नाम को व्यावसायिक हेतु से इस्तेमाल नहीं कर सकते।

उन्होंने दिल्ली उच्च न्यायालय से विनती की है के वो फ़िल्म के निर्माता तथा निर्देशक को शीर्षक बदलने के निर्देश दे।

त्यागी ने कहा के फ़िल्म का शीर्षक एम्ब्लेम्स एंड नेम्स (गलत उपयोग से प्रतिबंध) एक्ट के सेक्शन ३ का उल्लंघन है। उनका कहना है के किसी ट्रेड, व्यापार और पेशे में 'भारत' शब्द के इस्तेमाल को ये एक्ट प्रतिबंध लगाता है।

उन्होंने कहा के देश के संविधान के अनुसार 'भारत' हमारे देश का अधिकृत नाम है। उन्होंने इस बात से भी नाराज़गी जताई जहाँ एक संवाद में एक किरदार की भारत देश से तुलना की जा रही है।

त्यागी ने कहा के लोगों की देशभक्ति से खेल कर उस का फायदा उठाने जैसे हथखंडो पर न्यायालय ने रोक लगानी चाहिए। ऐसी चीज़ें अगर नहीं रूकती हैं तो देशभक्ति का अभद्र रूप हमें देखना पड़ेगा।

भारत (२०१९) कोरियन फ़िल्म एन ओड टू माय फादर (२०१४) का हिंदी रूपांतरण है।

"कोरियन फ़िल्म देखने के बाद मुझे लगा के इस फ़िल्म को देश का नाम देने की कोई आवश्यकता नहीं थी। ये एक शर्मनाक और धूर्त चाल है जिससे देश के प्रति लोगों की भावनाओं का फायदा उठाया जा सके। ऐसी भावनाएं जो हर एक भारतीय के दिल में बसती है," याचिकाकर्ता ने कहा।

त्यागी ने कहा के ट्रेलर देखने के बाद उन्हें पता चल गया के ये एक आम मनोरंजक फ़िल्म है।

Related topics