{ Page-Title / Story-Title }

News Hindi

टी-सीरीज़ बना युट्यूब पर १० करोड़ सब्सक्राइबर्स पार करनेवाला पहला चैनल


यूट्यूब की दुनिया का सबसे बड़ा चैनल बनने के लिए तैयार टी-सीरीज़ चैनल ने १० करोड़ सब्सक्राइबर्स का जादुई आंकड़ा पार कर लिया है।

Shriram Iyengar

दुनिया के लोकप्रिय युट्यूबर प्यूडिपाय के साथ की जंग भले ही अब शांत हो गई हो, पर टी-सीरीज़ का यूट्यूब पर धमाका अब भी जारी है। टी-सीरीज़ का यूट्यूब चैनल अब दुनिया का सर्व प्रथम यूट्यूब चैनल बन गया है, जिसने १० करोड़ सब्सक्राइबर्स के आंकड़े को पार कर लिया है।

इस चैनल पर दर्शकों को भारतीय फ़िल्म संगीत तथा सिंगल्स (गैर फ़िल्मी संगीत) के कई विकल्प मिलते हैं। जनवरी २०११ में शुरू हुए टी-सीरीज़ यूट्यूब चैनल के २९ उप चैनल्स हैं और उपलब्ध वीडिओज़ को सबसे अधिक बार देखा जाता है।

टी-सीरीज़ के चेयरमैन भूषण कुमार ने इस खास मौके पर एक अधिकृत निवेदन में फैन्स और टी-सीरीज़ के कर्मचारियों को धन्यवाद देते हुए कहा, "नए संगीत के लगातार प्रवाह और उनके रूपांतरण पर काम करना तथा सबसे पहले इन विषयों पर काम करना, ये सब हमारे लिए फायदेमंद रहा। हमने हमारा कॉन्टेंट ऑफलाइन मिडिया और सोशल मिडिया पर भी डाला और तब ये भी नहीं सोचा था के इससे क्या और कितना फायदा होगा। पर इससे हमारे चैनल पर लोगों का ध्यान बढ़ते गया।"

मार्केटिंग, मीडिया एंड पब्लिशिंग (टीवी) और म्युज़िक अक़्विजीशन के अध्यक्ष विनोद भानुशाली के लिए कॉन्टेंट इज़ किंग ये परिभाषा उपयुक्त है। उन्होंने कहा, "गुलशन कुमारजी की ही ये कल्पना थी के नए टैलेंट को सामने लाया जाए और कॉन्टेंट को संगीत और फ़िल्म के माध्यम से बनाया जाए जिसे ग्राहक पसंद करे। १९८४ में ही कॉन्टेंट का निर्माण शुरू हुआ था और यूट्यूब के माध्यम से अब ये लोगों को एक क्लिक से उपलब्ध हो जाता है।

"दर्शकों को हम रोज़ नया कुछ दे पाए इसलिए हम निर्माण कर रहे फ़िल्मों के संगीत का उपयोग करते हैं, साथ ही और कई पुराने म्यूज़िक अल्बम्स और सिंगल्स के हक़ खरीद कर उन्हें फिर से लाते हैं। हम भारतीय फ़िल्म इंडस्ट्री को और हमारी टीम्स को हमारी सहायता के लिए धन्यवाद देते हैं और हमें ढेर सारा प्यार देने के लिए पूरे विश्व के भारतीयों का भी धन्यवाद करते हैं," उन्होंने कहा।

टी-सीरीज़ की प्रॉडक्शन कंपनी और म्यूज़िक लेबल का वर्ष २०१९ भी काफ़ी व्यस्त है। सलमान ख़ाँ अभिनीत भारत से लेकर प्रभास की पहली हिंदी फ़िल्म साहो तक टी-सीरीज़ के पास कई महत्वकांक्षी प्रोजेक्ट्स हैं। इसके साथ ही कबीर सिंह, मरजावाँ और बाटला हाउस इन फ़िल्मों में भी टी-सीरीज़ की भागीदारी है।

Related topics