News Hindi

टोटल धमाल का गाना ‘पैसा ये पैसा’ – माधुरी दीक्षित की खूबसूरती की बहार, पर गाने में किशोर कुमार के जादू जैसी कोई बात नहीं


गाने में हर जगह उत्साह की कमी है और गाने में उसका फ़र्क साफ़ दिखाई देता है। 

Mayur Lookhar

इंद्र कुमार की फ़िल्म टोटल धमाल में लज्जा (२०११) के बाद अनिल कपूर और माधुरी दीक्षित एक साथ आ रहे हैं।

फ़िल्म निर्माता ने फ़िल्म के पहले गाने ‘पैसा ये पैसा’ को दर्शकों के सामने लाया है, जो की किशोर कुमार की आवाज़ में सुभाष घई की फ़िल्म कर्ज़ (१९८०) का लोकप्रिय गाना ‘पैसा ये पैसा’ का रीमेक है।

फ़िल्म की जो पार्श्वभूमि है, उसके चलते ‘पैसा ये पैसा’ गाना टोटल धमाल की कहानी के लिए सही चुनाव है, क्योंकि फ़िल्म में हर किरदार छुपे हुए खजाने के पीछे लगा हुआ है। पर ये नया गाना आपकी निराशा करता है।

ओरिजिनल गाने को आनंद बक्शी ने लिखा था और इसका संगीत दिया था लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल ने। गाने को आवाज़ मिली थी सदाबहार किशोर कुमार की। अब ये सोचना तो लाज़मी है के इस गाने के लिए ऐसी आवाज़ चुनी जाए जो किशोर कुमार के जादू को बरकरार रखे पर यहाँ ऐसा नहीं होता। 

२ मिनिट से भी कम समय का ये गाना नयी गीत रचना के साथ आया है, लेकिन बाकि चीजों के लिए ओरिजिनल वर्जन पर ही निर्भर है।

शुरुआती इंट्रो म्यूज़िक के लिए गौरव-रोशिन ने अच्छे पॉप ट्यून्स रचे हैं। पर एक बार जब मुख्य लाइन्स खत्म हो जाती हैं, आपको आश्चर्य होता है के संगीतकार ने और गीतकार कुंवर जुनेजा ने गाने में नया क्या जोड़ा है। ये रीमेक आजका है, पर लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल के ओरिजिनल के सामने एकदम फीका है।

देव नेगी और शुभ्रो गांगुली इस गाने के मुख्य गायक हैं तथा अर्पिता चक्रवर्ती ‘ला ला ला’ गाती हुयी माधुरी दीक्षित को आवाज़ देती हैं। नेगी, गांगुली और चक्रवर्ती ने गाने को अच्छा गाया है, पर शायद इस रीमेक का और मज़ा आता अगर किशोर कुमार की आवाज़ में ओरिजिनल गाने की चंद पंक्तियाँ गाने में रखी जाती।  

जहाँ तक दृश्यात्मकता की बात है, माधुरी दीक्षित का सेंटर स्टेज आना तो लाज़मी था। माधुरी बेहद खूबसूरत लगती हैं, पर रंजू वर्गीज़ की कोरिओग्राफी में उन्हें ज़्यादा कुछ करने का मौका नहीं मिला है।

गाने के ज़रिये अनिल कपूर, माधुरी दीक्षित, अजय देवगन, रितेश देशमुख, जावेद जाफ़री, अरशद वारसी और बाकि किरदारों में छुपा लालच ललचा रहा है। इस गाने के तेज़ ट्रैक को उतने ही जोश भरे कोरिओग्राफी की ज़रुरत थी। पर यहाँ हर जगह उत्साह की कमी है और गाने में उसका फ़र्क साफ़ दिखाई देता है। नीली वेशभूषा और निऑन लाइट्स भी गाने के मूड को उभरने में मदद नहीं करते।

अगर हम ओरिजिनल गाने को अलग रखें तो भी ‘पैसा ये पैसा’ गाने को एक मर्यादा है और पॉप संगीत पसंद करनेवालों को भी ये उतना प्रभावित नहीं कर पायेगा। 

टोटल धमाल २२ फरवरी को प्रदर्शित होगी। गाना यहॉं देखें।   

Related topics

Song review