{ Page-Title / Story-Title }

News Hindi

मिलन टॉकीज़ ट्रेलर – प्यार, फ़िल्में और मसाला का तड़का है अली फज़ल और श्रद्धा श्रीनाथ की यह फ़िल्म


तिग्मांशु धुलिया द्वारा निर्देशीत यह फ़िल्म १५ मार्च को प्रदर्शित होगी।

Shriram Iyengar

जहाँ एक तरफ रेट्रो संगीत के रीमेक का दौर ज़ोरों पर है, वहीं तिग्मांशु धुलिया की मिलन टॉकीज़ फ़िल्म में 1960, 1970 और 1980 के दौर की फ़िल्मों के दृश्यों के संदर्भ जोडे गए हैं। इस मज़ेदार ट्रेलर में 1980 के दशक के मसाला से लेकर आज के जात पात संघर्ष के भी संदर्भ मौजूद हैं।

धुलिया के निर्देशन में बनी इस फ़िल्म में अली फज़ल, श्रद्धा श्रीनाथ, आशुतोष राणा, संजय मिश्र और सिकंदर खेर काम कर रहे हैं।

ट्रेलर के शुरुवात में ही मुग़ल-ए-आज़म के सलीम का प्रसिद्ध संवाद सुनाई देता है, जिसे अली फज़ल का किरदार अन्नू अपने थिएटर मिलन टॉकीज़ में पेश कर रहा है। अन्नू फ़िल्मों का दीवाना है और देश का सबसे अच्छा फ़िल्म निर्देशक बनने का सपना रखता है, जिससे उसका बाप (धुलिया) हमेशा उखड़ते रहता है।

अन्नू एक लड़की (श्रद्धा श्रीनाथ) से प्यार करता है जो पंडा समुदाय से है और अन्नू को लड़की के बाप (आशुतोष राणा) और सिकंदर खेर के गुस्से का सामना करना पड़ता है।

लखनऊ में बसी इस कहानी में धुलियाने अन्नू और उसके दोस्तों के सपने, ज़िंदगी और संघर्ष को दर्शाया है। फ़िल्म में रेट्रो फ़िल्मों का माहौल है। क्योंकि ये मिलन टॉकीज़ की कहानी है तो इसमें फ़िल्मों के संदर्भ और फ़िल्मी मोड़ आना स्वाभाविक है। धुलिया ने 'धत तेरी तेरी जमाना' इस गाने से एक मसाला एंटरटेनर की भाँति फ़िल्म को और उत्कंठापूर्ण बनाया है।

पर ट्रेलर एक गंभीर मोड़ पर मुड़ता है जिससे इस एंटरटेनर फ़िल्म का रुख बदल जाता है और राणा दोनो प्रेमियों के बीच में कील की भाँति दुश्मन बनकर आते है। हालांकि खेर राणा की ही पक्ष के दीखते हैं, पर एक दृश्य में वे फ़िल्म को देख के मज़ा ले रहे हैं, जिससे ये पता चलता है के शायद उन्होंने पक्ष बदला हो।

मिलन टॉकीज़ १५ मार्च से सिनेमाघरों में प्रदर्शित हो रही है। ट्रेलर निचे देखें।

Related topics

Trailer review