{ Page-Title / Story-Title }

News Hindi

बदला गाना 'क्यों रब्बा' – अमाल मलिकने औरत की दुविधा को इस मेलडी में खूब पकड़ा है


अमाल मलिक द्वारा संगीतबद्ध इस गाने को अरमान मलिकने गाया है।

Shriram Iyengar

निर्देशक सुजॉय घोष की फ़िल्म बदला का मर्डर मिस्ट्री थ्रिलर से भरपूर ट्रेलर सबका ध्यान आकर्षित करने में सफल रहा था। पर अब फ़िल्म के पहले गानेसे इंसानी कश्मकश के अंगो को दर्शाया गया है।

अमाल मलिक का ये गाना तापसी पन्नू के किरदार की दुविधा को दर्शाता है जहाँ उस पर प्यार और परिवार में से किसी एक को चुनने का समय आया है।

फ़िल्म में पन्नू की किरदार नैना सेठी एक अजब घटना में फसी हुयी है। गाने में उसकी इस घटना में फ़सने की वजह बतायी गयी है और वो भी बहुत खूबसूरती के साथ।

इस गाने के दृश्यों में नैना इस घटना में फसी हुयी है, जहाँ एक तरफ उसका प्रेमी मरा पड़ा है और दूसरी तरफ उसका परिवार उसकी ओर शक की निगाह से देख रहा है।

अपने फुट ट्रैकर और अपराधी भावसे वो अकेले पड़ गयी है।

कुमार के शब्द मुश्किलों में फसी औरत की संवेदनाओं को एक राह दिलाते हैं। निराशा, अपराध भाव और दिल के टूटने के क्षणों को सादे लेकिन प्रभावी शब्दों में बयाँ किया है। इस सादगी में भले ही एक ताज़ापन है लेकिन इनमें कोई उठाव नहीं हैं।

मलिक के संगीतने उसकी कमी भर दी है। वायलिन के शुरुवाती टुकड़े से करुण भाव को दर्शाया गया है। हालांकि दर्द भरे गानों में इसे कई बार इस्तेमाल किया गया है। 'क्यों रब्बा' ये एक गुनगुनाने वाला दर्दभरा गीत है।

अरमान मलिक की हलकी आवाज इस गाने के लिए सटीक लगती है। उन्होंने इस गाने को बड़ी सहजता से पेश किया है।

बदला का निर्देशन सुजॉय घोष ने किया है और ये फ़िल्म 8 मार्च को प्रदर्शित हो रही है। गाना निचे देखें।

Related topics

Song review