{ Page-Title / Story-Title }

News Telugu

लक्ष्मीज़ एन टी आर ट्रेलर – एन टी रामाराव की नयी बायोपिक में राम गोपाल वर्मा ने नए विवाद को दिया जन्म


ट्रेलर में निर्देशक राम गोपाल वर्मा ने आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू को खलनायक के रूप में पेश किया है।

Shriram Iyengar

निर्देशक क्रिश के अधिकृत एन टी आर बायोपिक एन टी आर कथानायकूड़ु के एक महीने बाद ही तेलुगु फ़िल्म के पहले सुपरस्टार एन टी रामाराव के जीवन पर एक और बायोपिक आ रही है।

राम गोपाल वर्मा और अगस्त्य मंजू की लक्ष्मीज़ एन टी आर में आंध्र प्रदेश के दो पूर्व मुख्यमंत्री एन टी रामाराव और एन चंद्रबाबू नायडू के बीच के तनाव को दर्शाया गया है।

ट्रेलर की शुरुवात में एक फोन आता है जिससे शांत एन टी रामाराव (पी विजय कुमार) अस्वस्थ हो जाते हैं। लक्ष्मी पार्वती (यग्न शेट्टी) घर में आती हैं। हालांकि वे एन टी आर की विश्वस्त बनती हैं और उनकी देखभाल करती हैं, पर एन टी आर का परिवार उनके आने से नाखुश है और उन दोनों के बारे में अफ़वाएं फैलाते हैं।

ट्रेलर में चंद्रबाबू नायडू की एन टी आर से शत्रुता तथा तेलुगु देसम पक्ष को नायडू द्वारा हथियाने जाने पर भी ज़ोर दिया गया है।

ट्रेलर एन टी आर और नायडू के संघर्ष को भी दर्शाने से नहीं चूकता जहाँ एन टी आर कहते हैं, "मेरे जीवन में मैं ने एक ही ग़लती की है और वो है मैंने उस साप पर भरोसा किया।"

एक और दृश्य में 1992 में घटी कुप्रसिद्ध वॉइसरॉय होटल घटना को भी दर्शाया है, जहाँ एन टी आर और लक्ष्मी पार्वती पर पत्थरबाज़ी की गयी थी।

विवादित दृश्य, ज़बरदस्त संवाद और भरपूर राजनीतिक संघर्ष की वजहसे ये ट्रेलर आपका ध्यान आकर्षित करता है, पर यहाँ राम गोपाल वर्मा का जाना माना सिनेमैटिक टच नज़र नहीं आता। पर राम गोपाल वर्मा के विशेष कैमेरा ऐंगल्स यहाँ पर भी देखें जा सकते हैं।

ट्रेलर में एन टी आर के उत्तरार्ध, याने के 1989 के बाद के जीवन को दर्शाया है। लगता है के यह फ़िल्म क्रिश के एन टी आर बायोपिक के सिक़्वल एन टी आर महानायकूड़ु के साथ टक्कर देगी।

क्रिश की सिक़्वल फ़िल्म २२ फरवरी को प्रदर्शित हो रही है। दर्शक किस एन टी आर बायोपिक को चुनते हैं ये देखना रोचक होगा।

ट्रेलर में ऐसा भी दर्शाया गया है के एन टी आर का परिवार नायडू के साथ हाथ मिलाकर उन्हें दगा देता है, जिससे फ़िल्म पर टीका होने की संभावना है।

Related topics

Trailer review