{ Page-Title / Story-Title }

News Hindi

कुछ न्यूज़ एंकर्सने टीआरपी के लिए पुलवामा हमले का तमाशा बना दिया है, गरजे राकेश ओमप्रकाश मेहरा


रंग दे बसंती (2006) के निर्देशकने देश की जनता से आवाहन किया के वो ऐसे संकट के समय सरकार का साथ दे।

Keyur Seta

इस समय समूचा भारत गुरुवार को जम्मू और कश्मीर के पुलवामा जिल्ले में हुये आतंकी हमले में मारे गए 38 से भी अधिक सीआरपीएफ जवानों की शहादत के दुःख में है।

इस हमले पर पूछे जाने पर निर्देशक राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने कहा, "हर कोई गुस्से में है। हम ये जानते हैं। हम ये भी जानते हैं के हमें इन हमलावरों को माफ़ नहीं करना है। पर इस स्थिति में कुछ भी कह पाना मुश्किल है, क्योंकि देश में इस समय अलग ही वातावरण है। मैं सिर्फ़ शांति और अमन की स्थापना की आशा करता हूँ।"

अपनी आगामी फ़िल्म मेरे प्यारे प्राइम मिनिस्टर के प्रमोशन के दौरान मिडिया से बातचीत करते हुये मेहरा ने कहा के जो लोग शहीद हुये हैं उनके परिवार जनों के शोक में हर कोई शरीक है। "आपको ये कहने की जरूरत नहीं है," उन्होंने कहा। "जब हमारे जवान सीमाओं पर सिर्फ़ खड़े भी होते हैं, तब भी मैं उनके साथ ही होता हूँ और उनका उतना ही आदर करता हूँ। मैंने उनका जीवन देखा है। हमारा जीवन उनसे काफ़ी अलग है।"

मेहराने न्यूज़ एंकर्स पर भी टीका की जो इस स्थिति को युद्ध की स्थिति बता रहे हैं। "कल [गुरूवार] हम इतने दुःखद क्षणों को झेल रहे थे," उन्होंने कहा। "हम सब के लिए ये धक्का था। मैं रात 8 बजे से 12 बजे तक न्यूज़ देख रहा था। मुझे ऐसे लग रहा था जैसे क्या हो रहा है यार? टीआरपी के लिए आधे से ज़्यादा न्यूज़ एंकर्सने इसे तमाशा बना दिया था।"

मेहरा ने कहा के आक्रमकता ज़रूरी है पर उससे नुकसान नहीं होना चाहिए। "आक्रमकता शांतता प्रस्थापित करने के लिए होनी चाहिए," उन्होंने कहा। "उसका वही उद्देश्य होना चाहिए। बदला ये उद्द्येश्य नहीं हो सकता। नहीं तो ये सिलसिला चलता ही रहेगा।"

मेहराने देश की जनता से आवाहन किया के वो ऐसे संकट के समय सरकार का साथ दे। "इस देश का सबसे बड़ा ऑफिस इस समय इस समस्या से लड़ रहा है। हमें उन पर विश्वास करना होगा। जो सही कदम उठाने चाहिए, वही उठाएंगे। वे हमारा प्रतिनिधित्व करते हैं। हमारा पूरा समर्थन उनके साथ है। वे वही करेंगे जो करने की आवश्यकता है," उन्होंने कहा।

इस बारे में और बताते हुये उन्होंने कहा के कुछ लोग इस परिस्थिति का भी फायदा उठाने की कोशिश करेंगे।

Related topics