News Hindi

फ़िल्म इंडस्ट्री पर फिर गरजी कंगना, कहा 'इनकी वाट लगा दूंगी'


मणिकर्णिका – द क़्वीन ऑफ़ झाँसी की अभिनेत्रीने कहा पूरी फ़िल्म इंडस्ट्री उनके ख़िलाफ़ एकत्रित होकर बयानबाजी कर रही है।

फोटो सौजन्य शटरबग्ज़ इमेजेस

Our Correspondent

लगता है अभिनेत्री कंगना रनौत झाँसी की रानी के रूप में फिर से आ चुकी हैं। कंगना के पहले निर्देशनसे जुड़े विवाद में उनके विरोध में बढ़ती टिका को जवाब देते हुए उन्होंने कहा के वे किसी को नहीं छोड़ेंगी।

हिंदुस्तान टाइम्ज़ अखबार के अनुसार कंगनाने कहा के वे इंडस्ट्री के सेक्सिज़म, पे पैरिटी और नेपोटिज़म जैसे मुद्दों पर यहाँ वहाँ बोलती रहती थीं, पर अब वे इंडस्ट्री के पीछे ही पड़ जाएँगी। अब वे किसी को नहीं छोड़ेंगी।

अपनी फ़िल्म मणिकर्णिका – द क़्वीन ऑफ़ झाँसी के प्रमोशनल इवेंट के दौरान उन्हें पूछा गया था के उनकी फ़िल्म को इंडस्ट्री से कोई खास प्रमोट नहीं कर रहा है तथा फ़िल्म के विवाद को लेकर भी उनपर टिका की जा रही है, इस बारे में वे क्या सोचती हैं।

राधा कृष्ण जगारलामुडी उर्फ़ क्रिश ने रनौत पर आरोप किया था के उन्होंने फ़िल्म को निर्देशक के रूप हथिया लिया और फ़िल्म उनपर ज़्यादा केंद्रित रहे इसलिए बाकी कलाकारों की भूमिकाओं को कम कर दिया।

सोशल मिडिया पर क्रिश के इंटरव्ह्यू को लेखक अपूर्व असरानी, निर्देशिका पूजा भट तथा निर्देशक बिजॉय नाम्बियारने अपना समर्थन दिया ।

इन टिका टिप्पणी पर रनौतने कहा, "इससे मुझे क्या फायदा होनेवाला था? मुझे पहले ही 3-4 राष्ट्रिय पुरस्कार प्राप्त हैं। 31 वर्ष की आयु में मैं फ़िल्म निर्देशिका बनी हूँ। (ये लोग) खुद को ही प्रमोट कर लें तो बहुत बड़ी बात है।"

रनौत ने कहा के झाँसी की रानी उनकी चाची नहीं थी। उन्होंने कहा, "वो जितनी मेरी है उतनी ही आपकी। फिर इन लोगों को किस बात का डर है? उन्हें डर है क्योंकि मैं ने नेपोटिज़म पर बात की? उन्होंने मेरे ख़िलाफ़ अपना एक गैंग बना लिया है के इसने नेपोटिज़म पर क्यों बात की?"

स्कूली बच्चों से तुलना करते हुए उन्होंने कहा, "उन्होंने अपनी एक गैंग बना ली है, जैसे स्कुल में 60 बच्चों की क्लास हो और उनमे से 59 बच्चोंने एक बच्चे के ख़िलाफ़ अपनी गैंग बना ली हो। आपको कैसे लगेगा जब कोई आपके साथ ऐसा करेगा?"

पर रनौत का पीछे हटने का कोई इरादा नहीं है। उन्होंने कहा, "मैं इंडस्ट्री के सेक्सिज़म, पे पैरिटी और नेपोटिज़म जैसे मुद्दों पर यहाँ वहाँ बोलती रहती थी पर अब मैं इनके पीछे पड़ जाउंगी। मैं इनकी वाट लगा दूंगी।"

मणिकर्णिका – द क़्वीन ऑफ़ झाँसी 25 जनवरी को प्रदर्शित हुयी थी और फ़िल्म ने अब तक रु70 करोड़ नेट कमाई की है।

Related topics