{ Page-Title / Story-Title }

News Hindi

बर्लिन अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म महोत्सव में हॉलीवुड रिपोर्टरने सान्या मल्होत्रा को ‘टैलेंट टू वॉच’ कहा


रितेश बत्रा निर्देशित फोटोग्राफ फ़िल्म, जिसमे सान्या मल्होत्रा ने अभिनय किया है, १३ फरवरी को इस जर्मन फेस्टिवल में दिखाई जायेगी।

फोटो सौजन्य - शटरबग्ज़ इमेजेस

Sonal Pandya

सान्या मल्होत्रा इस समय चर्चा में हैं। पिछले वर्ष चर्चित फ़िल्म पटाखा (२०१८) और पारिवारिक फ़िल्म बधाई हो (२०१८), जिसे व्यावसायिक सफलता भी हासिल हुयी, इन में उनके अभिनय को सराहा गया और अब उन्हें ट्रेड मैगज़ीन हॉलीवुड रिपोर्टर में चुनिंदा पांच कलाकारों में चुना गया है जिनके अभिनय को गौरतलब बताया गया है।

सान्या की फ़िल्म फोटोग्राफ को इस वर्ष २७ जनवरी को सनडांस फ़िल्म फेस्टिवल में दिखाया गया। इस फ़िल्म को अमेज़ॉन स्टुडिओज़ वितरित कर रहा है और यह फ़िल्म ८ मार्च को प्रदर्शित हो रही है।

हॉलीवुड रिपोर्टर में सनडांस फ़िल्म फेस्टिवल के दौरान इस फ़िल्म की समीक्षा की गयी, जहाँ उन्होंने सान्या के अभिनय के बारे में लिखा, “सान्या मल्होत्रा ने मिलोनी के किरदार के बहकते हुए स्वभाव और भविष्य को खूबी से दर्शाया है, भले ही बत्रा का स्क्रीनप्ले उस पर उन बारीकियों से प्रकाश नहीं डाल सका।”

बर्लिन अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म महोत्सव अगले सप्ताह शुरु होने को है और इस मैगज़ीन ने सान्या मल्होत्रा के साथ जोनस डैज़लर, एंजेलिकी पैपोलिया, एना निओस्की और स्लीक वुड्स को नयी दमदार खोज बताया है।

फोटोग्राफ, जिसमे नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी की भी अहम भूमिका है, इस जर्मन फेस्टिवल में स्पेशल गाला सेक्शन में दिखाई जायेगी। 

फ़िल्म समीक्षक राजीव मसंद ने इस मैगज़ीन के ऑनलाइन संस्करण को आयपैड पर देखा और इस विशेष गौरव को सामने लाया। 

मैगज़ीन में लिखा है, “२६ वर्षीय इस अभिनेत्री ने २०१८ में बॉलिवुड में बधाई हो और पटाखा जैसी हिट फ़िल्मों से भारत में अपना नाम कमाया है। पर लंच बॉक्स के निर्देशक रितेश बत्रा की फ़िल्म फोटोग्राफ में एक शर्मीली और अनजान लड़की जिसे एक स्ट्रीट फोटोग्राफर नकली मंगेतर के रूप में प्रस्तुत करता है, ये किरदार उनके लिए अंतरराष्ट्रीय फ़िल्मो में काम करने का एक मौका बन सकता है।”

सान्या मल्होत्रा अपनी दंगल (२०१६) फ़िल्म की सह कलाकार तथा ऑनस्क्रीन बहन फ़ातिमा सना शेख़ के साथ फिर एक बार काम कर रही हैं। यह फ़िल्म अनुराग बासु द्वारा निर्देशित अलग अलग कहानियो को सूत्र में बांधने वाली फ़िल्म है जिसका अभी तक नाम तय नहीं किया गया है।

Related topics

Berlinale