News Hindi

बहुत हुआ सम्मान में संजय मिश्र के साथ जुड़े राघव जुन्याल, अभिषेक चौहान

Read in: English


इस कॉमेडी फ़िल्म का लेखन अविनाश सिंह और विजय नारायण वर्मा ने किया है और आशीष आर शुक्ल फ़िल्म का निर्देशन कर रहे हैं।

Our Correspondent

९ अगस्त को घोषित हुए राष्ट्रिय पुरस्कारों में यूडली फ़िल्म्स की उर्दू फ़िल्म हमिद (२०१९) को दो पुरस्कार मिले। अब इस प्रॉडक्शन की अगली फ़िल्म बहुत हुआ सम्मान का प्रॉडक्शन मुम्बई में शुरू हो चूका है।

आशीष आर शुक्ल द्वारा निर्देशित इस फ़िल्म में दो इंजीनियरिंग छात्रों की कहानी दर्शायी जा रही है, जो कॉलेज में ठगी के लिए जाने जाते हैं। फ़िल्म अगले कुछ महीने मुम्बई में शूट की जाएगी।

डान्सर से कोरिओग्राफर से अभिनेता बने राघव जुन्याल और नया चेहरा अभिषेक चौहान दो युवा किरदारों में नज़र आएंगे। बाकी कलाकारों में संजय मिश्र, राम कपूर, निधि सिंह, नमित दास और फ़्लोरा सैनी नज़र आएंगे।

अविनाश सिंह और विजय नारायण वर्मा द्वारा लिखित इस कॉमेडी फ़िल्म में छात्र कॉलेज के कैम्पस की बैंक लूटने की योजना बनाते हैं। इन्हें बाबा नामक ५० वर्ष का एक मार्क्सिस्ट छात्र उकसाता है।

इस दौरान, उन्हें मिलते हैं एक कड़क महिला पुलिस अफसर जो माँ बनने के लिए बेताब है, एक सुपारी किलर और एक ऐसा षडयंत्र जिसका असर पूरे देश पर पड़ सकता है। विध्वंस के लिए ये एक बहुत अच्छा मसाला है।

शुक्ल ने एक पत्रकार परिषद् में कहा, "हमारी फ़िल्म एक कॉमेडी केपर है जिसकी कहानी बनारस में बसी है। इस जबरदस्त कलाकारों की टीम के साथ मुझे इस फ़िल्म पर इस विषय पर काम करने का मौका मिला रहा है इसके लिए मैं काफ़ी उत्सुक हूँ। मेरी कोशिश है के ऐसा कुछ बनाये जिससे जिस पॉप कल्चर का हम पर प्रभाव रहा है, उसे चीर सकें। सटीक व्यंग और कटाक्ष के साथ उपरोधिक शैली में कॉमेडी ऑफ़ एरर्स को यहाँ दर्शाया जाएगा। मुझे ख़ुशी है के इस कहानी को स्क्रीन पर लाने के लिए मुझे यूडली फ़िल्म्स का साथ मिला।"

निर्माता सिद्धार्थ आनंद कुमार ने कहा, "बहुत हुआ सम्मान ये सदाबहार कॉमेडी है जो फ़िल्म के अंत में एक अच्छा सन्देश भी देती है, पर कभी भी अपने हास्य व्यंग और अपने अंदाज़ को नहीं छोड़ती। हमने ऐसी बेहतरीन कलाकारों की टीम जुटाई है जो अपने भूमिकाओं में मैडनेस और कलाकारी का खूबसूरत प्रदर्शन दे रहे हैं। आशीष शुक्ल के निर्देशन में ये एक अलग अदांज़ की गतिशील कॉमेडी साबित हो रही है और ये फ़िल्म पूरी एकत्रित रूप में देखने के लिए हम उत्सुक हैं। समझदार दर्शकों के लिए रोचक, मनोरंजक और प्रासंगिक कहानियां प्रस्तुत करने के यूडली फ़िल्म्स के प्रयास में ये हमारा एक और आश्वासक कदम हैं।"

Related topics