News Hindi

सुप्रीम कोर्ट ८ अप्रैल को सुनेगी पीएम नरेंद्र मोदी के प्रदर्शन को पीछे धकेलने की अर्जी


बॉम्बे हाय कोर्ट ने १ अप्रैल को फ़िल्म के प्रदर्शन को पीछे धकेलने की अर्जी को ख़ारिज कर दिया था।

फोटो - शटरबग्ज़ इमेजेस

Our Correspondent

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बायोपिक फ़िल्म के प्रदर्शन को पीछे धकेलने की अर्जी को सुनने की स्वीकृति दी है। इसकी सुनवाई ८ अप्रैल को होगी। फ़िल्म के प्रदर्शन की नयी तारीख ११ अप्रैल है। इसी दिन लोकसभा चुनाव के मतदान का पहला चरण शुरू हो रहा है।

इस अर्जी को रिपब्लिकन पार्टी ऑफ़ इंडिया (आर पी आय) के राष्ट्रिय अध्यक्ष सतीश गायकवाड़ ने बॉम्बे हाय कोर्ट में दाखिल किया था। इस अर्जी के अनुसार इस फ़िल्म का प्रदर्शन चुनाव आयोग की आचार संहिता का उल्लंघन है।

चुनाव आयोग ने हाय कोर्ट को अपने जवाब में कहा था के उन्हें इस फ़िल्म के प्रदर्शन से कोई आपत्ति नहीं। उसके बाद हाय कोर्ट ने १ अप्रैल को ये अर्जी खारिज कर दी। उसके बाद गायकवाड़ ने इस अर्जी को सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया।

गायकवाड़ के वकील हैं अभिषेक मनु सिंघवी, जो की कांग्रेस के सांसद हैं। उन्होंने बताया के सुप्रीम कोर्ट में इस विषय को तत्काल रूप से सुना जायेगा। "वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने न्यायमूर्ति एस ए बोबडे द्वारा संचालित न्यायमूर्ति पैनल के सामने इस अर्जी को तत्काल सुनवाई के लिए दाखिल किया। पैनल ने इस अर्जी की सुनवाई ८ अप्रैल को रखी है," न्यूज़ एजेंसी ए एन आय ने अपने अधिकृत ट्विटर अकाउंट पर कहा।

ओमंग कुमार बी द्वारा निर्देशित तथा विवेक आनंद ओबेरॉय अभिनीत पीएम नरेंद्र मोदी फ़िल्म सबसे पहले १२ अप्रैल को प्रदर्शित होनी थी। पर बाद में इसके प्रदर्शन की तारीख आगे कर दी गई और अब बुधवार को सेन्सर बोर्ड के कुछ आपत्ति के चलते इसका प्रदर्शन फिर से पीछे धकेल दिया गया।

Related topics