{ Page-Title / Story-Title }

News Hindi

सिन्धुस्तान से सपना भावनानी बनी निर्देशिका, एन वाय आय एफ एफ २०१९ में होगा फ़िल्म का प्रीमियर


यह फ़िल्म सिंधी समाज की कहानी है जो १९४७ में हुए विभाजन के समय भारत में स्थलांतरित हुए थे।

Our Correspondent

जानी मानी हेयरस्टाइलिस्ट सपना भावनानी सिन्धुस्तान नामक डॉक्यूमेंट्री से पहली बार निर्देशिका के रूप में सामने आ रही हैं। ९ मई को फ़िल्म का प्रीमियर न्यू यॉर्क इंडियन फ़िल्म फेस्टिवल में हो रहा है।

इस फ़िल्म द्वारा भावनानी अपने जड़ो की तरफ लौट रही हैं। सिंधी समाज का देश के विभाजन के समय भारत में स्थलांतरित होने का चित्रण इस डॉक्यूमेंट्री में किया गया है।

भावनानी अपने शरीर पर किये गए कई सारे टैटूज़ के लिए भी जानी जाती हैं और मज़े की बात ये है के इन टैटूज़ का फ़िल्म में महत्वपूर्ण योगदान है।

"सिन्धुस्तान ये सिंधी समाज की भारत में स्थलांतर की कहानी है जिसे टैटूज़ के ज़रिए बताया जा रहा है। ये टैटूज़ सपना मोती भावनानी के शरीर पर किए गए हैं," निर्माताओं द्वारा जारी किये गए अधिकृत निवेदन में कहा गया।

सपना भावनानी

निवेदन में ये भी कहा गया के फ़िल्म का शीर्षक एशिया खंड की सबसे बड़ी नदी सिंध के नाम से रखा गया है और इस डॉक्यूमेंट्री की कल्पना कुछ वर्ष पहले भावनानी और उनकी नानी के बीच हुए संभाषण से सामने आयी।

फ़िल्म के बारे में कहते हुए भावनानी ने अधिकृत निवेदन में कहा, "सिन्धुस्तान मेरे निजी जीवन से बनी है। सिंधी समाज के इतिहास और धरोहर का जतन उसके शुरुवात से किया जाए ताकि नयी पीढ़ी को उनके परंपरा की पहचान मिले, इसी लिए सिन्धुस्तान का जन्म हुआ है।"

वे खुश हैं के उनकी फ़िल्म एन वाय आय एफ एफ में दिखाई जा रही है। "मैं खुश हूँ के मेरी फ़िल्म एन वाय आय एफ एफ २०१९ में दिखाई जा रही है। ये ऐसा बड़ा मंच है जहाँ हम अपनी कहानी दुनिया को बता सकते हैं और उन्हें सिंधी समाज के इतिहास का परिचय करा सकते हैं जो के दुनिया के सबसे बड़े स्थलांतरण का हिस्सा थे। मैं दर्शकों की प्रतिक्रिया जानने के लिए उत्सुक हूँ और आशा करती हूँ के वे इसे तहे दिल से पसंद करेंगे," उन्होंने कहा।

हाल ही में प्रदर्शित फ़िल्म के टीज़र में भावनानी की नानी उनके आखरी क्षणों में नज़र आती हैं।

Related topics