News Hindi

दे दे प्यार दे ट्रेलर – गर्लफ्रेंड रकुल और पूर्व पत्नी तब्बू के बीच में फंसे हैं अजय देवगन


फ़िल्म पर लव रंजन की शैली का स्टैम्प साफ़ दिखता है, जहाँ स्त्रियों के प्रति हसी मज़ाक के ज़रिये टिप्पणी की जाती है। स्क्रिप्ट में इसे हलके फुलके ढंग से हसी के डोस के साथ बांधा गया है।

Our Correspondent

दे दे प्यार दे कहानी है ५० वर्षीय आशीष (अजय देवगन) की जो २६ वर्षीय आयेशा (रकुल प्रीत सिंह) से प्यार करता है। लव रंजन द्वारा लिखित एवं निर्मित इस फ़िल्म के ट्रेलर को अजय देवगन के ५०वे जन्मदिवस के अवसर पर लॉंच किया गया।

आशीष अपनी पूर्व पत्नी मंजू (तब्बू) से अलग हो चूका है। पर जब वो अपने परिवार से मिलने जाता है, तो कुछ विचित्र घटनाएं घटती हैं। आशीष और आयेशा जब मंजू के घर आते हैं, तो कौनसे नए हास्य मोड़ आते हैं, उसी की कहानी है दे दे प्यार दे।

आशीष और मंजू के बच्चे बड़े हैं और अपने पिता के नए रिश्ते के वो खिलाफ हैं। पूरा परिवार आशीष और आयेशा के रिश्ते को तोडना चाहता है। मंजू और आयेशा के बीच की नोकझोंक फ़िल्म की जान है। जिमि शेरगिल के किरदार के दिल में मंजू के लिए खास जगह है, जिसका अंदाज़ा ट्रेलर से लगाया जा सकता है।

एडिटर अकिव अली इस फ़िल्म से निर्देशक की कुर्सी पर विराजमान हुए हैं। फ़िल्म का शीर्षक किशोर कुमार के लोकप्रिय गीत 'दे दे प्यार दे' से लिया गया है। दे दे प्यार दे फ़िल्म का लेखन सुरभि भटनागर, तरुण जैन तथा लव रंजन ने मिलकर किया है।

फ़िल्म पर लव रंजन की शैली का स्टैम्प साफ़ दिखता है, जहाँ स्त्रियों के प्रति हसी मज़ाक के ज़रिये टिप्पणी की जाती है। स्क्रिप्ट में इसे हलके फुलके ढंग से हसी के डोस के साथ बांधा गया है।

इससे पूर्व तब्बू ने चीनी कम (२००७) फ़िल्म में अपने से अधिक उम्र के आदमी से प्यार करनेवाली औरत का किरदार निभाया था। वहाँ कहानी को काफ़ी संजीदगी से दर्शाया गया था। पर दे दे प्यार दे के बारे में हम वही बात नहीं कह सकते, क्यूंकि कुछ जगहों पर हास्य व्यंग के नाम पर संवाद काफ़ी ठेठ और आक्रमक हैं।

दे दे प्यार दे १७ मई को प्रदर्शित हो रही है। ट्रेलर यहाँ देखें।

Related topics

Trailer review