{ Page-Title / Story-Title }

News Hindi

स्टुडंट ऑफ़ द ईयर २ का 'जवानी गाना' – विशाल-शेखर के इस गाने में चमक ज़्यादा, धमक कम


विशाल ददलानी और पायल देव द्वारा गाया हुआ यह गाना १९७२ की फ़िल्म जवानी दीवानी के गाने का नया वर्जन है।

Shriram Iyengar

पुराने हिट क्लासिक गानों को नए पीढ़ी के सामने लाने के नाम पर जिस तरह से पेश किया जा रहा है, इसे काफ़ी खेदजनक कहा जाना चाहिए। अपेक्षानुरूप स्टुडंट ऑफ़ द ईयर २ के 'जवानी गाने' में भी यही नज़ारा देखने को मिलता है।

टाइगर श्रॉफ, अनन्या पांडे और तारा सुतारिया के रियूनियन गाने में आर डी बर्मन के लोकप्रिय गाने को नए वर्जन में इस्तेमाल किया गया है। विशाल-शेखर द्वारा संगीतबद्ध इस गाने को विशाल ददलानी और पायल देव ने आवाज़ दी है।

स्टुडंट ऑफ़ द ईयर (२०१२) के 'डिस्को गाने' की तरह यह गाना भी रियूनियन का गाना है। गाने के सम्पूर्ण माहौल को देखते हुए ये साफ़ है के धर्मा प्रॉडक्शन्स के स्टाइल के अनुसार इस गाने को पेश किया गया है।

टाइगर श्रॉफ सुनहरे ड्रेस पहने हैं और सम्पूर्ण सेट भी चमकीला बना हुआ है। फैशनेबल रेट्रो कपडे, रॉक कॉन्सर्ट स्टेज, जापानी आनिमे-शॉउनें स्कूल ड्रेस, इस तरह की वेशभूषाओं से ये गाना किसी फैशन परेड से कम नज़र नहीं आता।

यह गाना टाइगर के डांसिंग क्षमताओं की झलक है और उनका प्रदर्शन निश्चित ही तारीफ-ए-काबिल है। उन पर कोई भी स्टेप आसान ही लगता है, पर कोरिओग्राफी फिर भी थोड़ी अटपटी सी है। सुतारिया और पांडे का नयापन खास कर उनके क्लोजअप्स में झलकता है और शायद इसी लिए वे कम ही नज़र आते हैं।

टाइगर एथलीट स्टेप्स के साथ आसानी से स्टेज पर अपना प्रभाव दर्शाते हैं। आदित्य सील भी शुरुवात में अच्छा प्रदर्शन दर्शाते हैं, पर बाद में वे भी कम नज़र आते हैं। देखा जाए तो पहले स्टुडंट ऑफ़ द ईयर का स्कूल रियूनियन गाना इससे बेहतर था।

हालांकि जापानी आनिमे टाइप वेशभूषा पर आक्षेप लेना ज़्यादती हो सकती है, पर गाने ने इसका संतुलन बनाये रखा है। आर डी बर्मन के बहुत बड़े फैन मानी जानेवाली विशाल-शेखर की जोड़ी ने इससे पूर्व झंकार बीट्स (२००३) में आरडी के संगीत को अपने खूबसूरत संगीत द्वारा श्रद्धांजलि अर्पित की थी। ये गाना झंकार बीट्स के गाने के दर्ज़े तक भले ही न पहुंचता हो, पर फिर भी ये अपना असर ज़रूर छोड़ता है।

गाने की शुरुवात में वो गति और जोश है के आप उसे पसंद करने लगते हैं। ददलानी की आवाज़ ओरजिनल गाने के जोश को बरकरार रखती है। पर नए वर्जन और पुराने गाने के शिफ्टिंग की वजह से गाने का मज़ा कम हो जाता है। पर किशोर कुमार की सदाबहार आवाज़ और आर डी बर्मन का संगीत आप हमेशा पसंद ही करेंगे। पायल देव को गाने के तौर पर बहुत कम समय मिला है, मगर उतने समय में उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया है।

संगीत में कुछ नए वाद्यों के बीट्स तथा सैक्सोफोन का इस्तेमाल कर उसे और मॉडर्न बनाने की कोशिश की गई है। पर उसका ज़्यादा असर नहीं पड़ता। इस नए वर्जन में पुराने गाने की सहजता नहीं है। शायद वो जानबूझ कर किया गया हो। फिर भी ये गाना आप गुनगुना सकते हैं। पर इसका श्रेय आरडी बर्मन को ही जाना चाहिए।

स्टुडंट ऑफ़ द ईयर २ का निर्देशन पुनीत मल्होत्रा ने किया है। फ़िल्म १० मई को प्रदर्शित हो रही है। नए और पुराने वर्जन को यहाँ देखें।

 

Related topics

Song review