{ Page-Title / Story-Title }

News Hindi

मोतीचूर चकनाचूर के निर्माता ने भेजी सुनील शेट्टी को लीगल नोटिस, कहा फ़िल्म में कर रहे हैं दखलअंदाज़ी


वुडपेकर मूव्हीज़ प्रॉडक्शन की इस फ़िल्म में सुनील शेट्टी की बेटी अथिया शेट्टी मुख्य स्त्री भूमिका निभा रही हैं। सूत्र के अनुसार सुनील शेट्टी ही मोतीचूर चकनाचूर प्रोजेक्ट को वुडपेकर के पास लेकर आए थे।

Mayur Lookhar

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी अभिनीत मोतीचूर चकनाचूर फ़िल्म विवादों में घिरी है, हालांकि उनका इस विवाद से कोई लेनादेना नहीं है। मुम्बई मिरर.कॉम वेबसाईट के अनुसार वुडपेकर मूव्हीज़ के निर्माता राजेश और किरण भाटिया ने अभिनेता सुनील शेट्टी को फ़िल्म में दखलअंदाज़ी करने का कारण बताकर लीगल नोटिस भेजी है। सुनील शेट्टी की बेटी अथिया फ़िल्म में सिद्दीकी के साथ अहम भूमिका निभा रही हैं।

निर्माताओं ने वकील रमेश और कुसुम जैन के ज़रिए ये नोटिस भेजी है। खबर के अनुसार नोटिस में यह लिखा है के वुडपेकर मूव्हीज़ प्रा ली के प्रोजेक्ट के हर मुद्दे का अंतिम निर्णय निर्माता राजेश और किरण भाटिया के अधिकार में है।

"श्री सुनील शेट्टी को निम्नलिखित फ़िल्म में किसी भी प्रकार के निर्णय लेने का या फ़िल्म के बार में फ़िल्म के कलाकार या तंत्रज्ञ से कोई चर्चा करने का कोई अधिकार नहीं। एडिटिंग में दखलअंदाज़ी, मार्केटिंग या क्रिएटिव टीम से बातचीत, पोस्ट-प्रॉडक्शन में दखलअंदाज़ी या फ़िल्म से जुड़े स्टुडिओज़ से बातचीत, ट्रेड से जुडी बातें इस प्रकार के किसी भी विषय में किसी भी तरह की दखलअंदाज़ी का उन्हें कोई अधिकार नहीं हैं," नोटिस में लिखा था।

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी मोतीचूर चकनाचूर फ़िल्म में 

मुम्बई मिरर अखबार से बात करते हुए सुनील शेट्टी ने इस विषय पर हंसते हुए कहा के वे उचित समय पर इस बारे में बात करेंगे।

किरण और राजेश भाटिया से बात करने की कोशिश की गई लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो पाया। पर सिनेस्तान ने फ़िल्म से जुड़े सूत्र से बात की, जिन्होंने इस खबर पर आश्चर्य जताया।

"ये खबर पढ़कर मुझे सचमुच आश्चर्य हो रहा है," सूत्र ने कहा। "जितना मुझे पता है, सुनील सर एक दिन भी शूटिंग पर नहीं आए और ना ही वे कभी एडिट के लिए बैठे। कुछ दिन पहले हम सबने साथ मिलकर फर्स्ट एडिट देखा था। ऐसा नार्मली होता है। सुनील सर भी वहाँ थे पर मैंने उन्हें एडिट में गलतिया निकालते हुए नहीं सुना। उन्हें फ़िल्म अच्छी लगी और अपने बेटी के बारे में वे कुछ नहीं बोले। मुझे एक बात ज़रूर याद है के फर्स्ट एडिट देखने के बाद उन्हें फ़िल्म इतनी पसंद आयी के उन्होंने नवाज़ुद्दीन को फोन करके उनकी तारीफ की।"

सूत्र के अनुसार फ़िल्म के बनने में सुनील शेट्टी की अहम भूमिका रही है। "यह फ़िल्म सुनील सर के बगैर नहीं बन सकती थी," सूत्र ने कहा। "इस कहानी को सबसे पहले लेखक, निर्देशक देबमित्र हसन और मेघव्रत सिंह गुर्जर, ने उन्हें ही सुनाया था। सुनील सर ने ही नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी को इस फ़िल्म में लाया। उन्होंने राजेश और किरण भाटिया को बतौर निर्माता इस फ़िल्म से जोड़ा और उसके बाद वायकॉम१८ मोशन पिक्चर्स इस फ़िल्म से जुड़े। मुझे लगता है वुडपेकर की ये पहली फ़िल्म है। अथिया इस प्रोजेक्ट में बाद में जुडी जब निर्देशक को अथिया उनके किरदार के लिए योग्य लगी।"

"मुझे नहीं पता के राजेशजी और सुनील सर के बीच क्या हुआ है, पर जो भी छपा है उस पर विश्वास करना मुश्किल है। इसकी कुछ और वजह हो सकती है," सूत्र ने कहा।

Related topics